राजनीति के सर्वमान्य नेता थे अटल-राज्यपाल

रांची,16अगस्त। राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू ने देश के पूर्व प्रधानमंत्री भारतरत्न श्रद्धेय अटल बिहारी वाजपेयी के निधन पर गहरा दुःख एवं शोक प्रकट किया है। उन्होंने कहा कि भारत राश्ट्र के तीन बार प्रधानमंत्री रहनेवाने श्रद्धेय अटल बिहारी वाजपेयी भारत ही नहीं, अपितु विश्व के अत्यन्त लोकप्रिय नेताओं में अहम थे। भारतीय राजनीति में वे एक सर्वमान्य नेता के रूप में जाने जाते थे जिनका विरोधी दल के भी प्रायः सभी नेता सम्मान करते थे, वे सदा कहते थे कि राजनीति में मतभेद हो सकते थे, मनभेद नहीं। उनकी अद्वितीय विदेशनीति का सभी सराहना करते हैं। भारतीय राजनीति में वे सफल गठबंधन की राजनीति के निर्माता के रूप में भी जाने जाते हैं। उन्होंने लोकतंत्र में कभी भी अमर्यादित भाशा का प्रयोग नहीं किया। अपने व्यक्तित्व से वे सबके लिए आदर्श बने।
राज्यपाल ने कहा कि श्रद्धेय श्री अटल जी भारत माता के ऐसे सपूत थे जिन्होंने अपना जीवन देश और देशवासियों के उत्थान एवं कल्याण के लिए जिया। उन्होंने भारतीय अर्थव्यस्था में सुधार लाने का तेज गति से कार्य किया। उन्होंने स्वर्णिम चतुर्भुज योजना, प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना, सर्वशिक्षा अभियान, महिला उत्थान के लिए स्वयं सहायता समूह का गठन जैसे कई अहम योजनाओं को संचालित करने का कार्य किया जो देश को तेज गति से विकास के पथ पर ले जाने में कारगर साबित हुआ। उन्होंने संचार क्रान्ति लाने में अहम भूमिका निभाई। उन्होंने पोखरण परमाणु परीक्षण जैसे कई साहासिक निर्णय लिया, कारगिल युद्ध में सेना का मनोबल बढ़ाते हुए देश को विजयी बनाने का कार्य किया। उन्होंने हिन्दी भाशा को अन्तर्राश्ट्रीय स्तर पर सम्मान दिलाने का कार्य किया। वे इस युग के महान राजनीतिज्ञ के साथ कुशल कवि, पत्रकार और प्रखर वक्ता भी थे। उनकी वाणी देश के लोगों को उल्लासित करती थी। देश में कई कुशल एवं दूरगामी प्रभाववाले योजनाओं को संचालित करने हेतु वे सदा स्मरण किये जायेंगे। राज्यपाल ने कहा कि भारतीय लोकतंत्र एवं राजनीति में भारतरत्न अटल बिहारी वाजपेयी की अत्यन्त ही कमी महसूस की जायेगी। उन्होंने कहा कि ईश्वर उनकी आत्मा को चिरशांति प्रदान करें।

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *