August 12, 2022

view point Jharkhand

View Point Jharkhand

कैशकांडः गिरफ्तार कांग्रेसी विधायकों ने पूछताछ में किया कई खुलासा, कई विधायक थे साथ

Spread the love


कांग्रेस विधायक अनूप सिंह द्वारा थाना में शिकायत दर्ज कराने और दावे पर पार्टी विधायकों ने ही उठाये सवाल
रांची। पश्चिम बंगाल के हावड़ा में 30 जुलाई की रात को पांचला के रानीहाट मोड़ के निकट से भारी कैश के साथ गिरफ्तार कांग्रेस विधायक इरफान अंसारी, राजेश कच्छप और नमन विक्सल कोंगाड़ी समेत 5 आरोपियों को सीआईडी की टीम ने सोमवार से रिमांड पर लेकर पूछताछ शुरू की। वहीं कांग्रेस विधायक अनूप सिंह द्वारा अरगोड़ा थाना में इस मामले को लेकर दर्ज करायी गयी शिकायत और 10 करोड़ कैश एवं मंत्री पद देने के दावे पर पार्टी के ही कई विधायकों ने सवाल उठाये है।
गिरफ्तार तीन कांग्रेसी विधायकों से हावड़ा के भवानी भवन में इन विधायकों से पूछताछ की जा रही है। इस पूछताछ में तीनों  विधायकों ने कई बातों का खुलासा किया। सूत्रों के मुताबिक पूछताछ में यह भी खुलासा हुआ है कि उनके साथ पांच और कांग्रेस विधायक साथ में थे, लेकिन वे बच निकलने में सफल रहे। प.बंगाल की पुलिस और सीआईडी द्वारा मामले की छानबीन में यह बात भी सामने आयी है कि तीनों विधायकों एयरपोर्ट से कोलकाता स्थित एक होटल में पहुंचे थे और वहां रजिस्ट्रर में एंट्री किये बिना उन्हें एक कमरा दे दिया गया था। वे सभी 30 जुलाई को गुवाहाटी से कोलकाता पहुंचे थे। प्रारंभिक छानबीन में इस बात की भी जानकारी मिलने की बात कही जा रही है कि वे गुवाहाटी में बीजेपी के एक बड़े नेता से मिलने गये थे और गुवाहाटी से कोलकाता लौटने पर कोलकाता के सदर स्ट्रीट स्थित एक होटल में पहुंचे थे। जहां उन्हें एक कमरा दिया गया। वे उस कमरे में सिर्फ आठ मिनट तक रहे और फिर निचले तले में स्थित बार में गये। बार में रहते ही उनका एक साथी होटल से बाहर निकला और बाइक लेकर वहां से निकल पड़ा। करीब 40-45 मिनट बाद वह होटल के बार में पहुंचा, तो उसके हाथ में एक बैग था, लेकिन उस बैग के अंदर क्या था, यह रहस्य अभी बरकरार है।
इधर, रांची में मौजूद कांग्रेस विधायकों ने रांची के अरगोड़ा थाना में अनूप सिंह उर्फ कुमार जयमंगल सिंह द्वारा शिकायत दर्ज करायी गयी शिकायत पर नाराजगी जाहिर की है।
कांग्रेस विधायक उमाशंकर अकेला ने अनूप सिंह द्वारा 10 करोड़ रुपया और मंत्री पद का ऑफर दिये जाने के दावे पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि उन्हें यदि इस बात की जानकारी थी कि तो एक दिन पहले ही उन्हें शिकायत दर्ज करानी चाहिए थी। कांग्रेस विधायक ममता देवी और अंबा प्रसाद ने भी किसी भी तरफ के ऑफर से इंकार किया है। दूसरी तरफ विधायक अनूप सिंह ने साफ किया है कि उन्होंने पार्टी के किसी विधायक के खिलाफ कोई प्राथमिकी दर्ज नहीं करायी है, सिर्फ उन्होंने यह जानकारी दी है कि उनसे इरफान अंसारी और अन्य विधायकों ने बात की थी और उन्हें कोलकाता बुलाया गया था। उनसे बीजेपी के किसी नेता ने कोई संपर्क नहीं किया गया है।
इधर, बीजेपी विधायक सीपी सिंह ने तीन विधायकों की गिरफ्तारी पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि अनाड़ी पकड़ा गया और खिलाड़ी सदन के अंदर है।

About Post Author