October 22, 2021

view point Jharkhand

View Point Jharkhand

थर्मल पावर प्लांट के लिए कोयला की कमी खबर के बीच कोयला मंत्री का झारखंड दौरा

Spread the love


अशोका कोल परियोजना का निरीक्षण करेंगे, सीसीएल-बीसीसीएल के वरीय अधिकारियों के साथ करेंगे बैठक
रांची। देशभर के थर्मल पावर प्लांट में कोयले की कमी की खबर के बीच केन्द्रीय कोयला मंत्री प्रहलाद जोशी गुरुवार 14अक्टूबर को एकदिवसीय झारखंड के दौरे पर आएंगे।
केंद्रीय मंत्री झारखंड दौरे के क्रम में चतरा जिला स्थित अशोका कोल परियोजना का निरीक्षण करेंगे। इस क्रम में कोयला मंत्री कोल इंडिया की प्रमुख अनुषंगी इकाई सीसीएल और बीसीसीएल के वरीय अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक करेंगे और कोयले के उत्पादन को लेकर विस्तार से विचार विमर्श होगा।
कोयला मंत्री बुधवार को छत्तीसगढ़ दौरे पर है। कल सुबह वे आठ बजे बिलासपुर से विशेष फ्लाईट रांची के लिए उड़ान भरेंगे। रांची पहुंचने के बाद वे हेलीकॉप्टर से चतरा स्थित अशोका माइंस पहुंचेंगे। अशोका माइंस का निरीक्षण करने और अधिकारियों के साथ बैठक करने के बाद वे रांची लौट आएंगे। कोयला मंत्री दोपहर 12.30बजे से 14.30बजे तक रांची में सीसीएल और बीसीसीएल समेत अन्य अधिकारियों के साथ बैठक करने के बाद एयर एशिया के फ्लाईट से बेंगलुरु के लिए रवाना हो जाएंगे। रात्रि विश्राम उनका बेंगलुरु में ही होगा।
केंद्रीय कोयला एवं खनन मंत्री प्राह्लाद जोशी छत्तीसगढ़, झारखंड और कर्नाटक के तीन दिवसीय दौरे को देश के थर्मल पावर प्लांट में कोयले की कमी से जोड़ कर देखा जा रहा है। देश में मुख्य रूप से इन्हीं राज्यों से कोयले की आपूर्ति होती है और देशभर में कोयले का कुल उत्पादन अकेले 40 प्रतिशत से अधिक कोयला उत्पादन झारखंड ही करता है। ऐसे में कोयले की कमी दूर करने को लेकर केंद्रीय मंत्री के इस दौरे को काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है।