October 22, 2021

view point Jharkhand

View Point Jharkhand

बिजली संकट पर बोले कोयला मंत्री प्रह्लाद जोशी -पैनिक होने की जरूरत नहीं

Featured Video Play Icon
Spread the love

रांची। देश भर के थर्मल पावर विद्युत संयंत्रों में कोयले के स्टॉक की कमी की खबर के बीच केंद्रीय कोयला मंत्री प्रह्लाद जोशी गुरुवार को एकदिवसीय रांची दौरे पर है। छत्तीसगढ़ से विशेष विमान से रांची पहुंचने पर कोयला मंत्री एयरपोर्ट से ही हेलीकॉप्टर से सीधे चतरा जिला के पिपरवार स्थित अशोका परियोजना के लिए रवाना हुए। उनके साथ कोल इंडिया के चेयरमैन, सीसीएल के सीएमडी और अन्य कोयला अधिकारी मौजूद थे।
अशोका परियोजना का निरीक्षण करने के बाद मीडिया कर्मियों से बातचीत में प्रह्लाद जोशी ने कहा कि कोयले के स्टॉक को लेकर पैनिक होने की जरुरत नहीं है। उन्होंने कहा कि करीब 22 प्रतिशत कोयले का आयात बंद होने और ज्यादा बारिश होने के कारण देश में कोयले का उत्पादन प्रभावित हुआ है, लेकिन कल से ही दो मिलियन टन कोयले का उत्पादन होने लगा है। उन्होंने कहा कि थर्मल पावर के लिए पर्याप्त स्टॉक उपलब्ध कराने का प्रयास किया जा रहा है और वे यह भरोसा दिलाना चाहते है कि किसी भी पावर प्लांट में कोयले की सप्लाई प्रभावित नहीं होगी। इसके लिए पैनिक होने की जरूरत नहीं है।
इससे पहले केंद्रीय मंत्री ने अधिकारियों के साथ सेंट्रल कोलफील्ड्स लिमिटेड की “अशोक कोल परियोजना“ का निरीक्षण करते हुए माइंस में की जा रही कोयला उत्पादन व ढुलाई की गतिविधियों की जानकारी ली तथा अधिक से अधिक कोयला उत्पादन में और भी तेजी लाने पर बल देते हुए अधिकारियों के संग विस्तार से विचार-विमर्श भी किया। वहीं कोयले का उत्पादन बढ़ाने को लेकर अधिकारियों को कई दिशा निर्देश भी दिए गए। मौके पर केंद्रीय कोयला मंत्री प्रह्लाद जोशी ने कहा कि कोयले की कमी पर उन्हें राजनीति नहीं करनी है। उन्हांने कहा कि अभी सरकार को यह सुनिश्चित करना है कि देश के बिजली संयंत्रों को कोयले की जितनी आवश्यकता है इतनी आपूर्ति की जा रही है। कोयला मंत्री ने कहा कि वे देश को यह आश्वस्त करता है कि देश के बिजली संयंत्रों द्वारा बिजली उत्पादन के लिए की जा रही कोयले की आपूर्ति करने में कोई समस्या आड़े नहीं आएगी। कोयला मंत्री ने कहा कि उत्पादन में तेजी लाने के लिए उनके द्वारा माइंस वगैरह का विजिट कर वस्तुस्थिति की समीक्षा की जा रही है। उन्होंने कहा कि पावर मंत्रालय से जो दो मिलियन टन का रिक्वायरमेंट अथवा जो डिमांड थी, वह कल से स्टेबल हो गई है। उन्होंने आगे कहा कि उत्पादन व सप्लाई बढ़ाने की दिशा में सभी अच्छा काम कर रहे हैं।
केंद्रीय मंत्री के अशोका परियोजना पहुंचने पर क्रम में हेलीपैड पर सीसीएल के सीएमडी पीएम प्रसाद, चतरा उपायुक्त अंजली यादव, एसपी राकेश रंजन व सिमरिया विधायक किशुन दास समेत अन्य अधिकारियों ने बुके देकर स्वागत किया। केंद्रीय मंत्री आज रांची के दरभंगा हाउस स्थित सीसीएल मुख्यालय में मंत्रालय और विभिन्न अनुषंगी इकाईयों के पदाधिकारियों के साथ भी बैठक कर रहे है। बैठक करने के बाद आज शाम वे रांची से रवाना हो जाएंगे।