December 4, 2021

view point Jharkhand

View Point Jharkhand

रूपा तिर्की केसः अवर निरीक्षक शिव कुमार कनौजिया बर्खास्त

Spread the love


सीबीआई ने सीएम हेमंत सोरेन के विधायक प्रतिनिधि पंकज मिश्रा से 3 घंटे की पूछताछ
रांची/चाईबासा/साहिबगंज। झारखंड में साहेबगंज महिला थाना की प्रभारी रूपा तिर्की की मौत मामले (Roopa Tirkey case) में गिरफ्तार पुलिस अवर निरीक्षक शिव कुमार कनौजिया को सेवा से बर्खास्त कर दिया गया हैं। वहीं इस मामले की जांच कर रही सीबीआई की टीम ने गुरुवार को साहेबगंज जिले के सर्किट हाउस में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के विधायक प्रतिनिधि पंकज मिश्रा से करीब 3 घंटे की लंबी पूछताछ की।
रूपा तिर्की केस की गुत्थी सुलझाने के लिए सीबीआई की टीम ने हेमंत सोरेन के विधायक प्रतिनिधि पंकज मिश्रा से करीब 3 घंटे तक पूछताछ की गयी। रूपा तिर्की की मौत के बाद उसके परिजनों ने पंकज मिश्रा पर कई गंभीर आरोप लगाये थे, इस कारण सीबीआई ने उसे नये सर्किट हाउस में बुलाकर केस से जुड़े कई अहम सवालों पर जवाब तलब किया और कलमबंद बयान नोट किया। बताया गया है कि पंकज मिश्रा को पूछताछ के लिए सुबह में 11 बजे बुलाया गया था, लेकिन वह मीडिया की नजरों से बचते हुए पहले ही सर्किट हाउस पहुंच गये। हालांकि बाद में उन्होंने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि इस मामले से उनका कोई लेना-देना नहीं है, विपक्षी पार्टियां उन्हें फंसाने की साजिश रच रही हैं।
इधर, पश्चिमी सिंहभूम जिले में पदस्थापित पुलिस अवर निरीक्षक, शिव कुमार कनौजिया को सेवा से बर्खास्त कर दिया गया है। रूपा तिर्की की मौत मामले में जिले के पुलिस अधीक्षक अजय लिंडा द्वारा उसे पहले इस मामले में निलंबित किया गया है। निलंबन के बाद उस पर पश्चिमी सिंहभूम जिला मुख्यालय चाईबासा में विभागीय कार्रवाई संचालित की गयी। विभागीय कार्रवाई संचालन के दौरान सभी साक्ष्यों का सूक्ष्म अवलोकन किया गया और गहन अध्ययन के बाद यह पाया गया कि महिला पुलिस अवर निरीक्षक सह थाना प्रभारी रूपा तिर्की के कथित रूप से फांसी लगाकर आत्महत्या मामले में वह दोषी हैं। उसका उक्त रवैया पुलिस की छवि धूमिल करने वाला तथा घोर अनुशासनहीनता, कर्तव्य हीनता ,संदिग्ध आचरण, चरित्र हीनता का परिचायक है। जिसके लिए पुलिस अधीक्षक चाईबासा के द्वारा निलंबित पुलिस अवर निरीक्षक शिव कुमार कनौजिया को सेवा से बर्खास्त करने का पुलिस उप- महानिरीक्षक असीम विक्रांत मिंज के यहां अनुशंसा किया गया था। इस अनुशंसा के आलोक में पुलिस उप-महानिरीक्षक कोल्हान क्षेत्र चाईबासा के द्वारा उन पर लगाए गए सभी आरोपों की जांच की गई, तथा सभी मामले सत्य पाए गए । पुलिस उप-महानिरीक्षक कोल्हान, क्षेत्र, चाईबासा, निलंबित पुलिस अवर निरीक्षक, शिव कुमार कनौजिया पर लगाए गए गंभीर आरोप के लिए उन्हें दोषी पाए। जिसके आलोक में उनके द्वारा उन्हें सेवा से बर्खास्त करने का आदेश पारित किया गया है ।