August 12, 2022

view point Jharkhand

View Point Jharkhand

कैशकांडः असम के सीएम की शिकायत कराने वाले विधायक जयमंगल सिंह की फोटो उन्हीं के साथ हुई वायरल

Spread the love


रांची। झारखंड के तीन कांग्रेसी विधायकों के प. बंगाल में कैश के साथ गिरफ्तारी के बाद विधायक कुमार जयमंगल सिंह उर्फ अनूप सिंह द्वारा रांची के अरगोड़ा थाने में शिकायत दर्ज कर हेमंत सोरेन सरकार को अस्थिर करने को लेकर कई गंभीर आरोप लगाये गये। अनूप सिंह की ओर से इस मामले में असम के मुख्यमंत्री  हिमंत बिस्वा सरमा के नाम का भी जिक्र किया गया, लेकिन अब असम के सीएम के साथ अनूप सिंह की तस्वीर मीडिया में वायरल हो रही है और वे ही कठघरे में आ गये है।
बेरमो विधायक जयमंगल सिंह की यह तस्वीर असम के जल संसाधन मंत्री पीजूश हजारिका ने अपने ट्विटर एकाउंट पर पोस्ट की, जिसमें जयमंगल सिंह असम के सीएम के साथ मुलाकात कर रहे थे। उनके साथ उत्तर प्रदेश के चंदौली जिले के सैयद राजा विधानसभा के विधायक सुशील सिंह नजर आ रहे है। असम के मंत्री पी. हजारिका ने कुमार जयमंगल पर जमकर निशाना साधा और उनके द्वारा लगाये गये आरोप को फर्जी करार दिया।
पी. हजारिका ने अपने ट्वीट में लिखा- झारखंड कांग्रेस विधायक कुमार जयमंगल सिंह के निराधार आरोपों के बारे में वे कुछ तथ्य साझा कर रहे है, झारखंड कांग्रेस विधायक कुमार जयमंगल उर्फ अनूप सिंह ने फर्जी आरोप लगाया कि गिरफ्तार किये गये 3 विधायकों ने उन्हें असम के सीएम से मिलने का लालच दिया था।’’ उन्होंने यह भी जानकारी दी कि मनगढ़ंत प्राथमिकी दर्ज करने के 5 दिन पहले सीएम 26 जुलाई की सुबह 9 बजे केंद्रीय कोयलामंत्री प्रह्लाद जोशी के आवास पर गये थे, ताकि उनके ट्रेड यूनियन से जुड़े मामले में उनकी मदद की जा सके।
गौरतलब है कि  विधायक अनूप सिंह ने रांची के अरगोड़ा थाने में दिये गये आवेदन में कांग्रेस विधायक अनूप सिंह ने लिखा है कि उन्हें विधायक राजेश कच्छप और इरफान अंसारी ने फोन कर कहा था  िकवह कोलकाता आए और सरकार को अपदस्थ करने में उनकी मदद करें। नये सरकार में उन्हें मंत्री और सभी विधायकों को 10 करोड़ रुपये भी मिलेंगे। इस मामले में अनूप सिंह ने ये भी कहा है कि कोलकाता से उन्हें गुवाहाटी जाना था और असम के मुख्यमंत्री हेमंत बिस्वा सरमा से मुलाकात करनी थी। अनूप सिंह ने यह भी जानकारी दी कि इरफान अंसारी ने उन्हें स्वास्थ्य मंत्री बनाने का वादा किया था। हालांकि मामला दूसरे राज्य से जुड़ा है, ऐसे में अरगोड़ा पुलिस ने जीरो एफआईआर दर्ज कर प. बंगाल के संबंधित थाने को भेज दिया है।

About Post Author