October 22, 2021

view point Jharkhand

View Point Jharkhand

रिटायर आईएएस अमित खरे बने पीएम मोदी के सलाहकार

Spread the love


रांची। चारा घोटाले का खुलासा करने वाले सेवानिवृत्त आईएएस अमित खरे को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का सलाहकार नियुक्ति किया गया है। बताया गया है कि अमित खरे की स्वच्छ, ईमानदान और कर्त्तव्यनिष्ठ अधिकारी के रूप में 36 वर्षां की सेवा तथा उनके अनुभव को देखते हुए उन्हें पीएम मोदी का सलाहकार बनाया गया है। अमित खरे इसी वर्ष 30 सितंबर को ही उच्च शिक्षा सचिव के पद से सेवानिवृत्त हुए हैं। अमित खरे ने ही एकीकृत बिहार में पश्चिमी सिंहभूम के उपायुक्त रहने के दौरान सबसे पहले चारा घोटाले का खुलासा किया था और पहली प्राथमिकी दर्ज करायी थी। इस मामले में कई हाईप्रोफाइल राजनेताओं, अधिकारियों-आपूर्तिकर्त्ता जेल गये और सजा भी हुई।
1985बैच के आईएस अधिकारी अमित खरे को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का सलाहकार नियुक्ति करने के संबंध में कार्मिक, लोक शिकायत एवं पेंशन मंत्रालय द्वारा आदेश जारी कर दिया गया। आईएएस अमित खरे इसके पूर्व मानव संसाधन और सूचना प्रसारण विभाग के सचिव भी रहे हैं। मंत्रिमंडल की नियुक्ति समिति ने अमित खरे को पीएम का सलाहकार नियुक्त करने के प्रस्ताव को मंजूरी दी गयी। पीएमओ में उनकी संविदा नियुक्ति भारत सरकार के सचिव की रैंक और स्केल पर दी गयी। वह दो वर्ष तक इस पद पर रहेंगे।
करीब 36वर्ष तक भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारी के रूप में अमित खरे का योगदान यादगार रहा। जहां भी उन्होंने अपनी सेवा दी, उन्हें आज भी लोग ईमानदार और कर्त्तव्यनिष्ठ अधिकारी के रूप में करते है। झारखंड और बिहार सरकार में कई महत्वपूर्ण जिम्मेवारियों का निवर्हन करने के साथ ही उनके नेतृत्व में भारत की नयी शिक्षा नीति 2020 लागू की गयी। विशेषज्ञों ने इस नीति को भारत को विश्वगुरु बनाने का मास्टर प्लान बताया है। अमित खरे ने उच्च शिक्षा के क्षेत्र में कई क्रांतिकारी बदलाव किये। आईआईटी, आईआईएम जैसे राष्ट्रीय महत्व का के संस्थानों को विश्वस्तरीय बनाने पर बल दिया। वे लंबे समय तक केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण सचिव के भी अतिरिक्त प्रभार में रहे।