July 25, 2024

view point Jharkhand

View Point Jharkhand

अंकिता के परिजनों को 10 लाख की सहायता और घृणित घटना का फास्ट ट्रैक कोर्ट से निष्पादन का निर्देश

Spread the love


एडीजी रैंक के अधिकारी से अनुसंधान कर प्रगति रिपोर्ट जल्द देने का निर्देश
रांची। झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने दुमका की बिटिया अंकिता को भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए पीड़िता के परिजनों को 10 लाख रुपये की सहायता देने की घोषणा की है। मुख्यमंत्री ने इस घृणित घटना का फास्ट ट्रैक कोर्ट से निष्पादन कराने का भी निर्देश है। सीएम हेमंत सोरेन ने पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) को उक्त मामले में एडीजी रैंक के अधिकारी द्वारा अनुसंधान की प्रगति पर शीघ्र रिपोर्ट देने का भी निर्देश दिया।
राज्य में राजनीतिक अनिश्चितता के माहौल के बीच चार दिन बाद झारखंड मंत्रालय पहुंचे मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने पत्रकारों से बातचीत राज्य सरकार की यह कोशिश है कि दोषियों को जल्द से जल्द सजा मिले। उन्होंने कहा कि ऐसी घटना समाज के लिए चिंता का विषय है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि आजकल समाज में कई तरह की बुरी घटनाएं घट रही हैं। यह वारदात दिल तोड़ने वाली है और कानून अपना काम कर रही है। सरकार की पूरी कोशिश है कि आरोपी को जल्द से जल्द सजा मिले।
सीएम हेमंत सोरेन ने कहा कि देश और समाज के समक्ष ऐसी घटनाएं चुनौती के समान है, इस तरह के मामलों में दोषियांे को वर्त्तमान प्रावधान से भी अधिक से अधिक कैसे कड़ी सजा मिले, इस पर भी विचार करने की जरूरत है।
गौरतलब है कि दुमका के जरूवाडीह इलाके में 23 अगस्त को शाहरुख नामक युवक ने एकतरफा प्यार में इंटर की छात्रा अंकिता को जिंदा जला दिया है। अंकिता को बेहतर इलाज के लिए रांची के रिम्स अस्पताल में भर्ती कराया गया लेकिन रविवार की सुबह अंकिता की मौत हो गई. बताया जाता है कि 23 अगस्त को शाहरुख अपने दोस्त छोटू उर्फ नईम के साथ अंकिता के घर पर हमला बोला और नींद में सो रही अंकिता को जिंदा जला दिया है। इस मामले में पुलिस ने त्वरित कार्यवाई करते हुए शाहरुख नामक युवक को पहले ही गिरफ्तार कर लिया था।वहीं फरार चल रहे दूसरे युवक नईम उर्फ छोटू को भी दुमका पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

About Post Author