July 25, 2024

view point Jharkhand

View Point Jharkhand

नौकरानी को प्रताड़ित करने वाली रिटायर आईएएस की पत्नी सीमा पात्रा की कोर्ट में पेशी, खुद को बताया बेकसूर

Spread the love



रांची । रिटायर आईएएस की पत्नी सीमा पात्रा को रांची पुलिस ने आज सुबह गिरफ्तार कर लिया। बीजेपी की निलंबित नेत्री सीमा पात्रा पर घर में लंबे समय तक दिव्यांग और घर में कामकाज करने वाली युवती को बंधक बनाये जाने और बेरहमी से मारपीट का आरोप है। बाद में पुलिस द्वारा उसे रांची स्थित व्यवहार न्यायालय में पेश किया गया, जहां मीडिया से बातचीत करते हुए उन्होंने खुद को बेकसूर बताया।
सीमा पात्रा ने पत्रकारों को बताया कि इस प्रकरण में वह पूरी तरह से निर्दाेष है और उन्हें साजिश के तहत फंसाया गया है, इसका जल्द ही वह खुलासा करेगी और मीडिया के सवालों का जवाब देंगी। सीमा पात्रा अपने बेटे की बीमारी की भी कुछ बात कर रही थी, लेकिन महिला पुलिसकर्मी तब तक उन्हें वाहन पर बैठाकर थाने से कोर्ट ले गयी।
हटिया डीएसपी राजा कुमार मित्रा के नेतृत्व में अरगोड़ा थाना पुलिस ने सीमा पात्रा को बुधवार सुबह उनके आवास से गिरफ्तार कर लिया। बताया गया है कि सीमा पात्रा मंगलवार को किसी खास उद्देष्य से रांची से बाहर गयी थी। देर रात करीब 11 बजे अपने आवस अशोक नगर लौटी थी। पुलिस को रात में ही वापस आने की सूचना मिल गयी थी, जिसके आधार पर आज सुबह उसे गिरफ्तार कर लिया। सुबह 7.00 बजे सीमा पात्रा की गिरफ्तारी हुई।
अरगोड़ा थाना क्षेत्र स्थित रोड नंबर एक में रहने वाली निलंबित बीजेपी नेत्री के सीमा पात्रा के खिलाफ भादवि की धारा 323, 325, 346 और 374 के मामला दर्ज कराया गया है। सीमा पात्रा पर एसटी-एससी एक्ट के तहत भी मामला दर्ज हुआ है। मामले की जांच के लिए हटिया डीएसपी राजा मित्रा को अनुसंधान पदाधिकारी बनाया गया है। वहीं बंधक बनायी गयी युवती को सीमा पात्रा के घर से निकाल कर रिम्स में भर्ती कराया गया है। पीड़ित नौकरानी सुनीता ने आरोप लगाया है कि सीमा पात्रा ने उसे लंबे समय तक बंधक बनाकर रखा। उसे गर्म तवे से दागा। रॉड से सुनीता के दांत तक तोड़ दिये गये। इतना ही नहीं सुनीता से जीभ से पेशाब साफ करवाने का भी आरोप लगाया है। जब पुलिस ने उसे रेस्क्यू कराया तो वह ठीक से चल भी नहीं पा रही थी।बाद में उसे कड़ी सुरक्षा के बीच रिम्स में इलाज के लिए भर्ती कराया गया है।
इस मामले को राज्यपाल रमेश बैस ने भी गंभीरता से लिया है। उन्होंने मंगलवार को ही इस मामले में अपनी नाराजगी जाहिर करते हुए राज्य के पुलिस महानिदेशक से पूछा है कि अब तक पुलिस द्वारा दोषी व्यक्तियों के विरुद्ध कोई कार्रवाई क्यों नहीं की गयी। राज्यपाल ने पुलिस की शिथिलता पर भी अपनी गंभीर चिंता प्रकट की है।

About Post Author