August 12, 2022

view point Jharkhand

View Point Jharkhand

संस्कृति, विरासत और धरोहरों को लेकर आत्मसम्मान और गौरव का केंद्र बना नवरत्नगढ़ का किला

Spread the love



नवरत्नगढ़ किला में तिरंगा प्रकाशोत्सव को देखने दूर-दूर से पहुंच रहे है लोग
रांची। आजादी का अमृत महोत्सव के उपलक्ष्य में भारत सरकार की ओर से विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन कर देश की संस्कृति, विरासत और धरोहरांे को लेकर आत्मसम्मान और गौरव पैदा करने को लेकर कई तरह के कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है। इस अभियान का उद्देश्य आजादी के संघर्ष और देश की सभ्यता-संस्कृति से सभी को अवगत कराना है। इसी क्रम में झारखंड स्थित गुमला के राष्ट्रीय धरोहर नवरत्नगढ़ में तिरंगा प्रकाशोत्सव का आयोजन किया जा रहा है। केंद्रीय संस्कृति मंत्रालय के अधीनस्थ भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण रांची मंडल द्वारा राष्ट्रीय धरोहर नवरत्नगढ़ स्थित प्राचीन किले में विद्युत सज्जा कर तिरंगा प्रकाशोत्सव का आयोजन किया जा रहा है। 4 अगस्त से 15 अगस्त तक सायं 7.00 से 9.00 बजे तक आकर्षक विद्युत सज्जा गुमला ही नहीं, बल्कि आसपास के क्षेत्रों के लिए आकर्षण का केंद्र बना है।
भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण रांची मंडल के अधीक्षण पुरातत्वविद डॉ0 शिव कुमार भगत ने बताया कि तिरंगा प्रकाशोत्सव से नवरत्नगढ़ का किला काफी आकर्षण नजर आ रहा है। इस तिरंगा प्रकाशोत्सव का आनंद लेने के लिए आगामी 15 अगस्त तक लोग नवरत्नगढ़ किला पहुंचकर झारखंड और देश के एक पुरातात्विक महत्व वाले संरक्षित स्थल का आनंद ले सकते है और इसके इतिहास के बारे में जानकारी हासिल कर सकते है।
अधीक्षण पुरातत्वविद ने बताया कि भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण द्वारा नवरत्नगढ़ किला परिसर में आगामी 10 अगस्त को पूर्वाह्न 11 बजे स्वच्छता अभियान का भी शुभारंभ किया जाएगा, जिसमें मुख्य अतिथि के रूप में पद्मश्री मुकुंद नायक और पद्मश्री मधु मंसुरी हंसमुख शामिल होंगे। जबकि यहां 12 से 15 अगस्त के बीच कई सांस्कृतिक कार्यक्रम और पूर्वाह्न 10 बजे से सायं 5 बजे तक छायाचित्र प्रदर्शनी का आयोजन किया जाएगा। वहीं 15 अगस्त को पूर्वाह्न 10 बजे यहां झंडोत्तोलन कार्यक्रम भी निर्धारित है।
केंद्रीय संस्कृति मंत्रालय के अधीनस्थ भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण के रांची मंडल द्वारा संरक्षित स्मारक राजमहल और मंदिर परिसर में भी 13 और 14 अगस्त को विभिन्न कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है। जबकि बेनिसागर में 9 अगस्त को कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है, जिसमें मुख्य अतिथि के रूप में पद्मश्री छूटनी देवी महतो उपस्थित रहेंगी, वहीं प्राचीन शिव मंदिर खेखपरता में 8 अगस्त को कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है, जिसमें मुख्य अतिथि पद्मश्री बलबीर दत्ता होंगे।

About Post Author