December 4, 2021

view point Jharkhand

View Point Jharkhand

इन शिक्षकों ने नई पीढ़ी के भविष्य को गढ़ने का काम किया

Spread the love


स्थापना दिवस समारोह में राष्ट्रपति पदक से पुरस्कृत 53 शिक्षकों को किया गया सम्मानित
रांची। झारखंड विधानसभा के 21वें स्थापना दिवस समारोह में आज जहां भाजपा विधायक रामचंद्र चंद्रवंशी को उत्कृष्ट विधायक और पांच पदाधिकारी-कर्मचारी को उत्कृष्ट विधानसभा कर्मी के रूप में सम्मानित किया गया, वहीं समारोह के दौरान सबसे अधिक सम्मान शिक्षकों को मिला।
ये है लोहरदगा जिले के आदर्श राजकीकृत उच्च विद्यालय निराला टोला के शिक्षक रहे शंकर साहू। इन्हें वर्ष दो हजार पांच में राष्ट्रपति शिक्षक पुरस्कार से सम्मानित किया गया। इन्होंने ना सिर्फ बच्चों के बेहतर भविष्य को गढ़ने का काम किया, बल्कि इनके क्षेत्र में यदि कोई लड़ाई झगड़ा भी होता, तो थाना पहुंचने वाले व्यक्ति से पुलिस यह कहती थी कि वे विवाद सुलझाने की कोशिश के लिए पहले गांव के शिक्षक शंकर साहू से मिलकर आएं।
राज्य में नेतरहाट आवासीय विद्यालय की तर्ज पर छात्राओं के लिए संचालित उत्कृष्ट शिक्षण संस्थान हजारीबाग स्थित इंदिरा गांधी आवासीय विद्यालय में भौतिकी पढ़ाने वाली शिक्षिका सीमा सिंह को भी आज सम्मानित किया गया। इन्हें वर्ष 2013 में राष्ट्रपति पदक से सम्मानित किया गया था। इन्होंने अपने स्कूल छात्राओं को वैसे रिसर्च के लिए प्रोत्साहित किया गया, जो पीजी की पढ़ाई के बाद सीनियर स्टुडेंट करते हैं।
स्थापना दिवस समारोह के दौरान राष्ट्रपति पदक से सम्मानित कुल 53 शिक्षकों को सम्मानित किया गया, इन शिक्षकों ने ना सिर्फ बच्चों को उत्कृष्ट शिक्षा दी, बल्कि अनेक पुस्तकें भी लिखी, जिसे अभी बच्चों को पढ़ाया भी जाता हैं।
शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो ने समारोह के दौरान सबसे अधिक शिक्षकों को सम्मान मिलने पर प्रसन्नता जाहिर करते हुए कहा कि राज्य सरकार गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के लिए निरंतर प्रयासरत हैं।
देश के बच्चों और युवाओं के भविष्य को गढ़ने वाले शिक्षकों को सम्मानित होते सभी के आंखों में आदर और सम्मान का भाव नजर आया और यह उम्मीद की जानी चाहिए कि अपने गुरु के दिखाये रास्ते पर चलते हुए आने वाली पीढ़ी देश का बेहतर भविष्य बनाने में सफल होगी।