|   पूर्ण बहुमत की सरकार से तेजी से होगा विकास:नरेंद्र मोदी   | |   सीएम मर्माहत,कहा-लोकतांत्रिक मर्यादा के खिलाफ प्रतिकूल   | |   गैर भाजपा शासित राज्यों के मुख्यमंत्री पीएम के कार्यक्रम से अपने को रखें अलग -बाबूलाल   | |   15अगस्त 2015तक हर स्कूल में शौच व पानी की सुविधाःपियूष गोयल   | |   गरीबों के कीमत पर विकास नहीं होःसीएम   |

पूर्ण बहुमत की सरकार से तेजी से होगा विकास:नरेंद्र मोदी

2

pm-1
रांची,21अगस्त।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि केंद्र में पूर्ण बहुमत की सरकार है, जिसके कारण केंद्र सरकार तेजी गति से विकास योजनाओं को अंजाम दे पायी है, यदि भाजपा-एनडीए को पूर्ण बहुमत नहीं मिला होता,तो अस्थिरता होती और शायद उस परिस्थिति में इतने आत्मविश्वास से यह कदम नहीं उठा पाते। उन्होंने कहा कि देश की जनता ने स्थिरता के महत्व को समझा है, झारखंड भी अभी महत्वपूर्ण दौर से गुजर पा रहा है, लोगों को सोच-समझ कर फैसला लेना चाहिए।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज राजधानी रांची के धुर्वा स्थित प्रभात तारा मैदान में पावर ग्रिड के pm-2उदघाटन समेत अन्य महत्वकांक्षी योजनाओं के उदघाटन एवं शिलान्यास समारोह को संबोधित कर रहे थे। इस मौके पर प्रधानमंत्री ने बेड़ो के गढ़गांव में 765 केवीए के पावर सब स्टेशन का ऑनलाईन उदघ्ज्ञाटन, कर्णपुरा सुपर थर्मल पावर प्रोजेक्ट कार्य का शुरभारंभ, नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ इलेक्ट्रॉनिक्स एंड इंफॉरमेशन टे क्नोलॉजी सेंटर व साफ्टवेयर टेक् नोलॉजी पार्क रांची का शिलान्यास, इंडियन ऑयल के भंडारण केंद्र देवघर का उदघाटन, नेशनल डिजिटल लिटरेसी का शुभारंभ किया।
pm-3प्रधानमंत्री ने कहा कि झारखंड की उम्र अभी 13-14वर्ष है, परिवार में भी जब बेटा या बेटी की उम्र 13-14वर्ष होती है, तो स्पेशल केयर की जरुरत होती है,क्योंकि यही वह उम्र है,जब अच्छी शिक्षा मिलें, दोस्त मिलें व सही दिशा मिले, झारखंड भी अभी महत्वपूर्ण दौर से गुजर रहा है। अब राज्य की जनता को यह तय करना है कि झारखंड 18वर्ष में कैसा हो,झारखंड के सपने को पूरा करने, योजना कैसी हो, व्यवस्था कैसी, इस पर गंभीरता से सोचने का समय आ गया है। उन्होंने झारखंड को नई ऊंचाईयों पर ले जाने के लिए राज्य की सवा तीन करोड़ जनता से गंभीरतापूर्वक विचार करने का आह्नान किया। नागपुरी भाषा में अपने संबोधन की शुरुआत करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि लोकसभा चुनाव के वक्त भी बार-बार झारखंड आना हुआ था, तब विकास के हर विषय पर अपनी बातों को रखी थी। उन्होंने कहा कि झारखंड की जनता ने विकास का मार्ग चुना है,लोकसभा चुनाव में भारी समर्थन दिया, जो प्यार-समर्थन दिया है, उसके लिए झारखंड का अंतःकरण पूर्वक आभार व्यक्त करता हूं, लेकिन सिर्फ आभार व्यक्त कर कर्त्तव्य pm-4पूर्ण करना वह सही नहीं मानते है, जो प्यार दिया है,उसे ब्याज समेत लौटाने झारखंड आएं है। नरेंद्र मोदी ने कहा कि झारखंड में देश के सबसे समृद्ध राज्य बनने की क्षमता है, यह राज्य गुजरात से भी अनेक गुणा आगे बढ़ सकता है। उन्होंने कहा कि जिस राज्य के पास इतनी प्राकृतिक संपदा हो, बिरसा मुंडा जैसे त्याग करने वाले नौजवान हो, वह राज्य कभी पिछड़ा नहीं रह सकता है। उन्होंने कहा कि अटल बिहारी वाजपेयी ने झारखंड अलग राज्य बनाया, विपुल प्राकृतिक संपदा से न सिर्फ झारखंड, बल्कि पूरे देश के विकास में यह राज्य अहम भूमिका निभा सकता है। उन्होंने कहा कि झारखंड की यह स्थिति उन्हें मंजूर नहीं है,इसे मिलजुल कर बदलना है, प्रगति की नई ऊंचाईयों तक झारखंड को पहुंचाना है।
प्रधानमंत्री ने कहा कि वे यह जानकर हैरान है कि उत्तरी कर्णपुरा सुपर थर्मल पावर संयंत्र की आधारशिला पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने रखी थी, लेकिन बाद में केंद्र में सरकार बदलने के कारण यह परियोजना वहीं की वहीं पड़ी है, यह झारखंड के साथ अन्याय है। उन्होंने कहा कि वाजपेयीजी ने जहां काम छोड़ा था,उसे आगे बढ़ाने का सौभाग्य उन्हें ही मिला है। नरेंद्र मोदी ने बताया कि करीब 1500 करोड़ रुपये की लागत से बिजली का यह कारखाना बनेगा,इससे न सिर्फ झारखंड का अंधेरा दूर होगा, बल्कि यह देश के अन्य हिस्सों में भी अंधेरा दूर करने में सहयो करेगा। प्रधानमंत्री ने कहा कि बेड़ो में स्थापित देश के सबसे बड़े पावर ग्रिड के उदघाटन का भी सौभाग्य उन्हें प्राप्त हुआ है, यह ट्रांसमिशन लाइन सिर्फ बिजली झारखंड लाएगी या झारखंड से बाहर ले जाएगी ही, बल्कि यह लाइन पूर्व और पश्चिम को जोड़ने वाली लाईन साबित होगी। उन्होंने कहा कि यह ट्रांसमिशन लाइन जन-जन में ऊर्जा और विकास की किरणों को नई ऊंचाईयों तक ले जाने का pm-5काम करेगी। प्रधानमंत्री ने कहा कि देश के पश्चिमी हिस्से में कुछ न कुछ गतिविधियां नजर आती है, वहां के लोग विकास की प्रतीक्षा कर रहे है, केंद्र सरकार पूरब को पश्चिम से और उत्तर से दक्षिण तक संतुलित विकास चाहती है। इसमें यह ट्रांसमिशन लाइन काफी अहम है। नरेंद्र मोदी ने बताया कि अक्सर यह देखा जाता है कि राज्यों के मुख्यमंत्री, सांसद व अन्य प्रतिनिधि केंद्र सरकार के कार्यालयों का चक्कर काटते रहते है,ताकि योजनाओं को मंजूरी मिल सके। केंद्र में बैठे अधिकारियों की ओर से बताया जाता है कि उनकी योजना तो अच्छी है और वे देखने की बात भी करते है, लेकिन फिर एक साल बाद दुबारा मिलने पर वही अधिकारी बोलते है, अभी तक नहीं हुआ, अच्छा देखेंगे। इस तरह देखते-देखते 10वर्ष का वक्त गुजर गया। उन्होंने कहा कि भारत को आगे बढ़ाना है, तो राज्यों को आगे बढ़ाना होगा,राज्यों की उपेक्षा कर देश आगे नहीं बढ़ सकता। नरेंद्र मोदी ने बताया कि कल दिल्ली में कैबिनेट की बैठक में एक महत्वपूर्ण निर्णय लिया गया, खनिज रॉयल्टी बढ़ाने का फैसला हुआ,इससे झारखंड को प्रतिवर्ष 400 करोड़ रुपये का अतिरिक्त राजस्व मिलेगा, इसके लिए हेमंत सोरेन को कभी दिल्ली नहीं आना पड़ा, सभी को मिलकर देश को आगे बढ़ाना है। उन्होंने बताया कि गैस पाइप लाईन घर-घर पहुंचाने के लिए जगदीशपुर-फूलपुर-हल्दिया गैस पाइप लाईन का निर्माण शुरु किया गया है, जिसके तहत गोरखपुर,वाराणसी, पटना,रांची जमशेदपुर व कोलकाता को जोड़ा जाएगा। उन्होंने बताया कि जैसे सभी को घर में नल से पानी मिलता है,उसी तरह से लोगों को गैस मिल पाएगा। नरेंद्र मोदी ने कहा कि झारखंड के नौजवानों में टैलेंड है, संभावना है, तभी जमशेदपुर बनता है, यहां इलेट्रॉनिक गुड्स निर्माण की बड़ी संभावना है,केंद्र सरकार प्राथमिकता के आधार पर छोटे छोटे इलेक्ट्रॉनिक वस्तुओं के निर्माण बढ़ावा देगी।
2प्रधानमंत्री ने झारखंड में ट्रिपल आईटी की स्थापना की घोषणा करते हुए कहा कि बहुत जल्दी इस दिशा में काम शुरु कर दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि डिजिटल इंडिया के सपने को पूरा करना है, जिस तरह से आज मोबाइल फोन के अभाव में लोगों की जिन्दगी मुश्किल हो जाती है,उसी तरह टेक्नोलॉजी के माध्यम से शासन व्यवस्था में सरलता लायी जा सकती है।उन्होंने कहा कि सरकार दिल्ली में या राज्यों की रांची राजधानी में नहीं, बल्कि हिन्दुस्तान के नागरिकों के मुðियों में होनी चाहिए। यह डिजिटल इंडिया से ही संभव है। उन्होंने कहा कि आज देश में आईटी का काफी विकास होगा, झारखंड पीछे रह गया है, लेकिन शुरुआत तो कहीं न कहीं से करनी होगी। उन्होंने कहा कि लाखों-करोड़ों रुपये खर्च कर शासन-व्यवस्था का सरलीकरण होना चाहिए।
मंच पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अलावा केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद, धर्मेन्द्र प्रधान, पीयूष गोयल, मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन, राज्यपाल डॉ. सैयद अहमद, नेता प्रतिपक्ष अर्जुन मुंडा, सांसद रविशंकर के अलावा कई अधिकारी मौजूद थे।
1देवघर, धनबाद, बोकारो में भी साफ्टवेयर पार्क
केंद्रीय कानून व सूचना प्रौद्य्नोगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद ने सबका साथ, सबका विकास के संकल्प के साथ केंद्र की एनडीए सरकार तेजी से आगे बढ़ रती है।
रविशंकर प्रसाद आज रांची में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा विभिन्न योजनाओं के उदघाटन व शिलान्यास समारोह पर आयोजित जनसभा को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि पूर्वी भारत विशेषकर झारखंड, बिहार उड़ीसा जैसे राज्यों के विकास के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में ठोस कदम उठाए गए है। उन्होंने बताया कि डिजिटल इंडिया के माध्यम से देश में नयी क्रांति की शुरुआत की गयी है। केंद्रीय मंत्री ने बताया कि रांची में साफ्टवेयर टेक् नोलॉजी का नया सेंटर बनेगा, इसके अलावा जमशेदपुर के आदित्यपुर में इलेक्ट्रिक कलस्टर और धनबाद,देवघर व बोकारो में नया साफ्टवेयर पार्क की स्थापना होगा। उन्होंने कहा कि इन परियोजनाओं से अधिक से अधिक संख्या में लोगों को रोजगार मिल पाएगा।
पीएम ने नाईलीट रांची केंद्र की आधारशिला रखी
नाईलीट रांची केंद्र का शिलान्यास प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा आज एक समारोह में किया गया। रांची में नाईलीट केंद्र की स्थापना नाईलीट के देश भर में डिजिटल साक्षरता और क्षमता निर्माण के उद्देश्य को पूरा करने में एक महत्वपूर्ण कदम है।
नाईलीट भारत सरकार के इलेक्ट्रॉनिक्स एवं सूचना प्रौद्य्नोगिकी विभाग, की एक संस्था है जिसका मुख्याल्य नई दिल्ली में स्थित है तथा भारत वर्ष में इसके कुल 30 केंद्र हैं जिनमे से कई केंद्र भारत के दूर दराज के इलाघें जैसे कि लेह, अगरतला, आइजोल, चुचुईंलंग, गंगटोक, कोहिमा, आदि में स्थित हैं । अब, रांची में नए केंद्र के साथ, नाईलीट के देश में 31 केंद्र स्थापित हो चुके हैं। आज की तारीख में 20 लाख से अधिक युवाओं को नाईलीट द्वारा प्रशिक्षित किया जा चुका है।
बारिश के बीच पीएम का अतिथियों का हुआ आगमन
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज निर्धारित समय पर विशेष विमान से रांची पहुंचे और जब वे मंच पर पहुंचे, उस वक्त आसपास के क्षेत्रों में अच्छी बारिश हो रही थी। बारिश के बीच ही भींगते हुए मोदी और अन्य नेता मंच पर पहुंचे। जबकि प्रधानमंत्री की अगुवाई के लिए निर्माणाधीन हाईकोर्ट परिसर में बने हैलीपैड के लिए पहुंचे सांसद,विधायक और अन्य पूरी तरह से भींग गये। प्रधानमंत्री के स्वागत के लिए राज्यपाल व मुख्यमंत्री के अलावा राज्यसभा सांसद परिमल नथवाणी, सांसद जयंत सिन्हा, निशिकांत दूबे, पूर्व स्पीकर सीपी सिंह, पूर्व उपमुख्यमंत्री रघुवर दास, सांसद पीएन सिंह, कड़िया मुंडा समेत अन्य नेता मौजूद थे।

हेमंत के भाषण के साथ ही लगे ’मोदी-मोदी’ के नारे
सभा में हूटिंग से सीएम नाराज
मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने आज जैसे ही प्रधानमंत्री के मंच से अपने भाषण की शुरुआत की, जनसभा में मौजूद बड़ी संख्या में लोग ’मोदी-मोदी’ के नारे लगाने लगे।
प्रधानमंत्री के भाषणा के पहले जब झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन भाषण देने के लिए आगे बढ़े, लोगों ने उनकी हूटिंग शुरु कर दी। हेमंत सोरेन ने बोलना शुरु किया ही था कि लोग मोदी-मोदी के नारे लगाने लगे। प्रधानमंत्री मोदी ने हाथों से इशारा कर ’मोदी-मोदी’ के नारे लगा रहे लोगों से शांत रहने को कहा। इसके बाद वहां मौजूद लोग थोड़े शांत हुए। इसी बीच सीएम ने कहा कि हमें मंच पर मौजूद सभी लोगों के कारण इस सभा की अहमियत समझनी पड़ेगी। प्रधानमंत्री हमारे साथ हैं, इसलिए हमें गंभीरता से रहना होगा। इसके बावजूद लोग शांत नहीं हुए और जब तक मुख्यमंत्री भाषण देते रहे बीच-बीच में ’मोदी-मोदी के नारे लगते रहे। जब मुख्यमंत्री ने अपना भाषण खत्म किया, तो लोग चुप हुए।
हेमंत ने कई बार पीएम को अध्यक्ष महोदय कहा
झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने आज अपने भाषण के दौरान कई बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अध्यक्ष महोदय कह कर संबोधित कर दिया,हालांकि एक-दो बार उन्होंने अपनी भूल की सुधार भी करने की कोशिश की। लेकिन प्रधानमंत्री को अध्यक्ष महोदय कहे जाने के कारण उनकी खूब किरकिरी भी हुई ।

मंच पर अलग-थलग दिखे सीएम
प्रधानमंत्री बनने के बाद नरेंद्र मोदी का पहला झारखंड दौरा पूरी तरह भाजपा के रंग में रंगा दिखा। कार्यक्रम सरकारी होने के कारण भले ही सभा में भाजपा के झंडे नहीं दिख रहे थे, पर वहां पहुंचने वाले अधिकांश लोग भाजपाई ही थे। स्टेज पर भी भाजपा नेताओं की संख्या अधिक थी। अतः इस माहौल में अलग पार्टी जेएमएम (झारखंड मुक्ति मोर्चा) से सीएम हेमंत न चाहते हुए भी अलग-थलग दिखाई दिए। प्रधानमंत्री जब जनसभा में उपस्थित लोगों के अभिवादन के लिए आगे आएं, तो अर्जुन मुंडा भी उनके साथ आगे आकर हाथ हिला कर लोगों का अभिवादन किया,जबकि हेमंत सोरेन ने पीछे खड़े होकर लोगों का हाथ जोड़ कर अभिवादन किया।
भाजपा समर्थक जुलूस निकाल कर पहुंचे समारोह स्थल
भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष दीपक प्रकाश के समर्थक भव्य जुलूस निकाल कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्वागत के लिए धुर्वा स्थित प्रभात-तारा मैदान पहुंचे।
भाजपा नेता प्रेम वर्मा के नेतृत्व में हटिया विधानसभा क्षेत्र के रातू, नगड़ी, पुन्दाग,अरगोड़ा, हटिया, डोरंडा और हिनू समेत अन्य हिस्सों के भाजपा कार्यकर्त्ता नव उत्थान फाउण्डेशन के बैनर तले दलादली चौक के निकट एकत्रित हुए। जुलूस में मौजूद कार्यकर्त्ता प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जिन्दाबाद, हटिया का विधायक कैसा हो-दीपक प्रकाश जैसा हो, दीपक प्रकाश जिन्दाबाद आदि के नारे लगा रहे थे। जुलूस में शामिल कार्यकर्त्ता सफेद टोपी पहने हुए थे और हाथों में भाजपा का चुनाव चिह्न कमल छाप लिये हुए थे। प्रधानमंत्री के स्वागत के लिए भाजपा कार्यकर्त्ता ढोल-नगाड़े तथा पारंपरिक वेशभूषा के साथ जुलूस में चल रहे थे। जुलूस में बड़ी संख्या में महिलाएं युवा और छात्र भी शामिल थे। प्रधानमंत्री बनने के बाद पहली बार झारखंड आ रहे नरेंद्र मोदी द्वारा झारखंड और देश के विकास के लिए उठाये गये कदम के प्रति आभार व्यक्त करने के लिए भाजपा कार्यकर्त्ता अपने हाथों में नरेंद्र मोदी के कटआउट भी लिये हुए थे।जुलूस के साथ प्रभात तारा पहुंचे पार्टी कार्यकर्त्ताओं और समर्थकों से श्री दीपक प्रकाश ने अपील की है, कि प्रधानमंत्री ने झारखंड की जनता से राज्य में भी पूर्ण बहुमत की सरकार बनाने का आह्नान किया है,ताकि जिस तरह से केंद्र में नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में देश विकास की दिशा में तेजी से अग्रसर हो रहा है,उसी तरह से झारखंड में भी भाजपा के नेतृत्व में पूर्ण बहुमत की सरकार बनने से विकास की गति में अभूतपूर्व तेजी आएगी। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा झारखंड के विकास के लिए उठाये गये कदम की जानकारी कार्यकर्त्ताओं के माध्यम से गांव-गांव तक पहुंचाने की आवश्यकता पर बल दिया।
इस भव्य जुलूस में मुख्य रुप से राजेश सिंह, संजीव तिवारी, मदन साहू, नमिता प्रधान, रामानंद तिवारी, विमल उरांव, प्रदीप, संजय, पप्पू वर्मा, रवि प्रकाश, ममता चौहान, जगरनाथ उरांव, यासीन, तीरथ नाथ साहू, बंधन महतो समेत हजारों कार्यकर्त्ता मौजूद थे।

सीएम मर्माहत,कहा-लोकतांत्रिक मर्यादा के खिलाफ प्रतिकूल

hemantरांची,21अगस्त। मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन आज स्थानीय प्रभात तारा मैदान में उनके उद्बोधन के क्रम में व्यवधान पंहुचाने से अत्यधिक मर्माहत हैं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री के इस सरकारी कार्यक्रम में वे राज्य के मुख्यमंत्री की हैसियत से बोल रहा था,इसलिए इससे राज्य एवं राज्यवासियों का अपमान हुआ है। उन्होंने कहा कि कुछ दिन पूर्व भी प्रधानमंत्री की सभा में ऐसी घटना हो चुकी है। उसी प्रकार की घटना की पुनरावृति रांची में हुई। उन्होंने कहा कि इस प्रकार की घटना अमर्यादित एवं अशोभनीय है तथा लोकतंत्र के मर्यादा के प्रतिकूल है।
हेमंत सोरेन ने रांची में पत्र्कारों से बातचीत में कहा कि इस तरह की घटना से एक नई परिपाटी शुरु हो गयी है, इसे प्रधानमंत्री को संज्ञान लेना चाहिए। उन्होंने कहा कि उन्हें लगता है कि यह सिस्टम के साथ बलात्कार है। मुख्यमंत्री ने कहा कि राजनीतिक लड़ाई लड़नी है, तो चुनाव मैदान में आए, परंपरा और संघीय ढांचा को तोड़ने की कोशिश नहीं होनी चाहिए। हेमंत सोरेन ने आरोप लगाया कि सरकारी तंत्र में बैठ कर और सरकारी तंत्र का उपयोग कर राजनीति करने का प्रयास किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि वे पार्टी की हैसियत से मंच पर उपस्थित नहीं थे, बल्कि वहां मुख्यमंत्री के तौर पर मौजूद थे।

राज्य में केंद्र के मंत्रियों का विरोध करेंगेःझामुमो
झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो)ने आज रांची में प्रधानमंत्री के कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के भाषण के दौरान व्यवधान पहुंचाने की कोशिश की कड़े शब्दों में निन्दा की है और घोषणा की है कि केंद्र के मंत्रियों का राज्य में विरोध किया जाएगा।
झामुमो के केंद्रीय महासचिव सुप्रियो भट्टाचार्य ने आज यहां पत्र्ाकारों से बातचीत करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री के कार्यक्रम में इस तरह का खिलवाड़ दुर्भाग्यपूर्ण है। उन्होंने कहा कि प्रोटेकॉल के तहत मुख्यमंत्री और राज्यपाल प्रधानमंत्री के संग मंच पर गये थे, लेकिन इस तरह का अभद्र व्यवहार करना मर्यादा के खिलाफ है। उन्होंने कहा कि झामुमो इस तरह की घटना को बर्दाश्त नहीं करेगा और केंद्र सरकार के किसी भी मंत्री को झारखंड में अवैध विचरण को नहीं करने दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि पार्टी लोकतांत्रिक शक्तियों के साथ जोरदार विरोध दर्ज करायेगा। उन्होंने कहा कि प्रारंभिक प्रतिक्रिया में पार्टी को अभी सिर्फ इतना ही कहना है कि झामुमो इस तरह की घटनाओं को बर्दाश्त नहीं करेगा और इसका जवाब दिया जाएगा।

राजनीतिक मर्यादाओं को दूषित करने का प्रयासःसुबोधकांत
प्रधानमंत्री के कार्यक्रम में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के भाषण के दौरान भाजपाईयों द्वारा हंगामा करने पर प्रधानमंत्री की चुप्पी की घटना की कड़ी शब्दों में निंदा करते हुए पूर्व केंद्रीय मंत्री सुबोध कांत सहाय ने इसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा गैर भाजपा मुख्यमंत्रियों को अपमानित एवं राजनीतिक मर्यादाओं को दूषित करने का प्रयास बताया है।
सुबोधकांत सहाय ने कहा कि यूपीए सरकार द्वारा किये गये विकास कार्यो का उदघाटन करने आये प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यक्रम में मुख्यमंत्री के भाषण के दौरान भाजपाईयों ने हंगामा एवं बाधा उत्पन्न कर राज्य की जनता को बता दिया कि भाजपा के लोग अब राजनीतिक मर्यादाओं और परंपराओं को दूषित करने में तुले हुए है। उन्होंने कहा कि इससे पूर्व हरियाणा में भी इसी तरह की घटना हुई और दोनों घटनाओं में प्रधानमंत्री की चुप्पी यह दर्शाती है कि वह अपने कार्यक्रम में जानबुझ कर भाजपाईओं से हंगामा करवा कर मुख्यमंत्रियों को अपमानित करवाते है ताकि यूपीए सरकार के दौरान किये गये कार्यो का स्वयं श्रेय ले सके।
श्री सहाय ने कहा कि चुनाव में झूठी वायदों के बदौलत सता पाने वाली भाजपा के लोगों को मालूम है कि जनता केंद्र सरकार की असलियत जान चुकी है इसलिए प्रधानमंत्र्ाी के कार्यक्रमों में आम जनता की भागीदारी नहीं हो रही है जिस कारण सभी प्रदेशों में श्री मोदी के कार्यक्रम में भाजपा कार्यकर्ताओं से भीड़ जुटाई जा रही है। रांची के कार्यक्रम में भी भाजपा तथा भाड़े के लोगों को बुलाया गया और सरकारी खर्च पर प्रदेश भाजपा ने इसे अपने पार्टी का कार्यक्रम बना दिया। मुख्यमंत्री के भाषण के दौरान भाजपाईयों द्वारा हंगामा करने की घटना की कॉग्रेस नेता दीपक लाल, राजन वर्मा, ज्योति लकड़ा, मो शाहिद, मो खलील, टिन्कू वर्मा, सुधीर सिंह, राजा सेन गुप्ता, प्रशांत झा, दिवाकर साहू, महावीर मिर्धा, मीना देवी आदि ने भी कड़ी शब्दों में निंदा किया है।

गैर भाजपा शासित राज्यों के मुख्यमंत्री पीएम के कार्यक्रम से अपने को रखें अलग -बाबूलाल

झारखंड के मुख्यमंत्री का हूटिंग दुर्भाग्यपूर्ण,राज्य के इस अपमान के लिए माफी मांगें पीएम
babulal marandiरांची,21अगस्त। झारखंड विकास मोर्चा प्रजातांत्रिक के अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के रांची में आयोजित एक सरकारी कार्यक्रम में आज राज्य के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन का हुटिंग करने को घटना को दुर्भाग्यपूर्ण करार देते हुए देश के सभी गैर भाजपा ासित राज्यों के मुख्यमंत्रियांे से प्रधानमंत्री के कार्यक्रम से अपने को अलग रखने का आह्वान किया है। श्री मरांडी आज दुमका में संवाददाताओं के साथ बातचीत में कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का रांची में कार्यक्रम सरकारी कार्यक्रम था। इसके बावजूद भाजपा द्वारा इसे पार्टी के कार्यक्रम के रुप में प्रचारित किये जाने से नयी परम्परा की ुरुआत की गयी है। इस कार्यक्रम में राज्य के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को अपमानित किया जाना अति दुर्भाग्यपूर्ण हैं। भाजपा कार्यकर्ताओं के इस तरह के आचरण से पूरे राज्य को अपमानित होना पड़ा है। भाजपा के इस तरह के आचरण से उनका राजनीतिक दिवालिया पन उजागर हो गया है। इस तरह के आचारण के लिए प्रधानमंत्री सहित भाजपा के तमाम नेताओं को राज्य की जनता से क्षमा मांगना चाहिए। इस मौके पर मौजूद पूर्व उपमुख्यमंत्री प्रो.स्टीफन मरांडी ने कहा कि एक साजिश के तहत पहले हरियाणा के मुख्यमंत्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डा और आज झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को भरी सभा में अपमानित किया गया है। उन्होंने कहा कि भाजपा ने इस तरह का आचारण कर गलत परम्परा की ुरुआत की है। इस पर सभी दलों को मिलकर विरोध जताना चाहिए और भाजपा नेताओं को इस तरह के आचारण पर राज्य की जनता से माफी मांगना चाहिए।

15अगस्त 2015तक हर स्कूल में शौच व पानी की सुविधाःपियूष गोयल

दीनदयाल ग्राम ज्योति योजना व इंटीग्रेटेड पावर प्रोजेक्ट की शुरु करने की घोषणा
रांची,21अगस्त। केंद्रीय ऊर्जा व कोयला राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) पियूष गोयल ने कहा है कि अगले वर्ष 15अगस्त तक राज्य के हर स्कूलों में शौच और पानी की सुविधा उपलब्ध करा दी जाएगी।
पियूष गोयल आज रांची में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा विभिन्न योजनाओं के उदघाटन व शिलान्यास समारोह पर आयोजित जनसभा को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि झारखंड में कोयला की इतनी खदान है कि यहां एक मिनट बिजली कटौती नहीं होनी चाहिए और यहां से बिजली से देश के अन्य हिस्सों में उजाला हो सकता है। उन्होंने कहा कि उत्तरी कर्णपुरा थर्मल पावर प्रोजेक्ट में 2000 मेगावाट बिजली का उत्पादन होना था और 15वर्ष पूर्व तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार में इस परियोजना की आधारशिला रखी गयी थी, बाद में कोल लिंकेज भी आवंटित कर दिया गया, परंतु कुछ समय बाद इसे रद्द कर दिया गया। उन्होंने बताया गया कि कोयला और ऊर्जा मंत्रालय के बीच झगड़े के कारण यह परियोजना अब तक अधुरी है। पियूष गोयल ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार ने सारी कठिनाईयों को दूर कर भेल को काम करने का आदेश दिया है और निर्धारित समय-सीमा के अंदर इसे पूरा कर लिया जाएगा। उन्होंने दो नई परियोजनाओं दीनदयाल ग्राम ज्योति योजना और इंटीग्रेटेड पावर प्रोजेक्ट की शुरुआत की भी घोषणा की। केंद्रीय मंत्री ने बताया कि इस योजना को गुजरात में सफलतापूर्वक अंजाम दिया गया है।
पियूष गोयल ने बताया कि झारखंड सरकार के अधिकारियों से चर्चा कर यहां बिजली परियोजनाओं में आने वाली कठिनाईयों करने का प्रयास किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि कोयला कंपनियों ने राज्य के हर स्कूलों में शौचालय और पानी की सुविधा उपलब्ध कराने का निर्णय लिया है, सामाजिक निगमित उत्तरदायित्व के माध्यम से 100 करोड़ रुपये खर्च किया जाएगा और अगले 15अगस्त के पहले राज्य के हर स्कूलों में शौचालय एवं स्वच्छ पेयजल की सुविधा उपलब्ध करा दी जाएगी। उन्होंने राज्य में अधिक से अधिक कोल वाशरी और सौर ऊर्जा संयंत्र्ा लगाने पर भी बल दिया। पियूष गोयल ने कहा कि झरिया में भूमिगत आग को बुझाने के लिए केंद्र सरकार प्रतिबद्ध है।

 

गरीबों के कीमत पर विकास नहीं होःसीएम

DSC_8073
रांची,21अगस्त।मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने कहा कि गरीबों के प्रति संवेदनशील होते हुए विकास की राह पर आगे बढ़ना होगा। जमाखोरी एवं महंगाई पर रोक लगाने के साथ-साथ यह सोचना होगा कि बाजार की शक्तियों को बढ़ावा देने में गरीबों के निवाले पर असर न पड़े। देश के विकास हेतु व्यापार-वाणिज्य को बढ़ावा देना आवश्यक है पंरतु यह गरीबों के हितों की कीमत पर नहीं होना चाहिए। विकास के लिए शहर और गांवों की दूरी को पाटना होगा। देश के विकास के लिए गरीब और पिछड़े राज्य का विकास प्राथमिकता होनी चाहिए। इसके लिए हमें संघीय प्रणाली को ध्यान में रख कर आगे बढ़ना होगा। वे आज स्थानीय प्रभात तारा मैदान, धुर्वा में झारखण्ड की प्रथम 765 के0वी0 रांची-धर्मजयगढ़-सिपत अंतर क्षेत्रीय पारेषण लाईन के उद्घाटन के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। इस अवसर पर प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने उत्तरी कर्णपुरा सुपर थर्मल पावर प्रोजेक्ट के कामकाज का शुभांरभ एवं देवघर जिले के जसीडीह स्थित इंडियन ऑयल के बल्क स्टोरेज टर्मिनल का भी ऑनलाईन उद्घाटन कर राष्ट्र को समर्पित किया तथा रांची के सॉफ्टवेयर टेक्नॉलॉजी पार्क की नई इन्क्यूबेशन सुविधा तथा डिजिटल साक्षरता एवं क्षमता निर्माण हेतु नाईलीट के रांची केन्द्र का ऑनलाईन शिलान्यास किया।
मुख्यमंत्री ने कहा कि झारखण्ड में गरीबी दिखती है तो कहीं-कहीं देश में लक्ष्मी वास करती है। वाणिज्य-व्यवसाय की उन्नति के साथ-साथ हमें गरीबों के उत्थान पर ध्यान देना होगा।भारतीय संस्कृति और पंरपरा का ध्यान रखते हुए समाजिक समरस्ता के साथ हम गरीबों के लिए दो वक्त की रोटी की व्यवस्था करें इसकी आज जरुरत है। उन्होंने कहा कि मोदी चाय बेच कर इस ऊंचाई तक पहुंचे है,तो उनकी मां ने भी दूसरों के घर में काम कर उन्हें इस काबिल बनाया है। उन्होंने कहा कि गरीबों की उम्मीद ही राजनैतिक दलों की ताकत है। अतएव गरीबों को राजनीति के चश्में से नहीं देखा जाना चाहिए।

लापता ठेकेदार का शव बरामद

रांची,21अगस्त। गढ़वा जिले के गढ़वा निवासी सोमवार से लापता ठेकेदार बलिन्द्र सिंह का शव आज सुबह गढ़वा थाना के तिलदाग गांव में एक कुएं से बरामद किया गया। शव पाये जाने की सूचना मिलते ही जिले के सभी ठेकेदारों ने जिला मुख्यालय के रंका मोड़ पर राष्ट्रीय राजमार्ग पच्हत्तर को जाम कर दिया। करीब दो घंटे तक जाम के कारण गढ़वा सहित यूपी, छत्तीसगढ़ एवं बिहार से इस मार्ग पर आवागमन बाधित हो गया। बाद में जिले के पुलिस अधीक्षक सुधीर कुमार झा मौके पर पहुंचे और ठेकेदारों एवं पीड़ित परिजनों को अड़तालीस घंटे के भीतर अपराधियों की गिरफ्तारी का आश्वासन दिया, जिसके बाद जाम समाप्त हुआ। उन्होंने इस घटना में पेशेवर अपराधियों के शामिल होने का संदेह व्यक्त किया है। ठेकेदारों ने चेतावनी दी है कि यदि अपराधियों को जल्द गिरफ्तार नहीं किया गया तो वे फिर से अनिश्चितकालीन चक्का जाम करेंगे और जिले के सभी विकास कार्यों को ठप कर देंगे।

युवक ने परिवार के पांच सदस्यों पर जानलेवा हमला किया

रांची,21अगस्त। जमशेदपुर के सिदगोड़ा थाना क्षेत्र के शांतिनगर में पारिवारिक विवाद को लेकर एक युवक ने अपने परिवार के पाँच लोगों पर जानलेवा हमला किया, जिसमें वे घायल हो गये। सभी घायलों को जमशेदपुर के अलग-अलग अस्पतालों में भर्ती कराया गया है, जिसमें दो की हालत गंभीर बतायी जा रही है। फिलहाल आरोपी फरार हैं। पुलिस घटना की छानबीन कर रही है।

महिला समेत दो नक्सली गिरफ्तार

रांची,21अगस्त। खूंटी पुलिस ने जिले के मुरहू थाना क्षेत्र के बगमा टोली से एक महिला समेत दो पीएलएफआई के सक्रिय सहयोगियों को गिरफ्तार किया है। गुप्त सूचना के आधार पर मुरहू थाना क्षेत्र से गिरफ्तार दो अभियुक्तों के पास से पुलिस ने सिम समेत मोबाईल और पीएलएफआई चंदा रसीद भी बरामद किया है। खूंटी थाना क्षेत्र से गिरफ्तार पीएलएफआई का सदस्य हत्या के मामले में वांछित रहा है।

आचार संहिता मामले में बाबूलाल व स्टीफन ने किया आत्मसमर्पण,जमानत

रांची,21अगस्त। दुमका के अनुमंडल न्यायिक दंडाधिकारी अमरेश कुमार की अदालत में आदर्श आचार संहिता उल्लंघन मामले में गुरुवार को झारखंड विकास मोर्चा प्रजातांत्रिक के अध्यक्ष,दुमका लोकसभा क्षेत्र से झाविमो प्रजा.के पूर्व प्रत्याशी और पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी और झाविमो नेता पूर्व उपमुख्यमंत्री प्रो.स्टीफन मरांडी ने आत्मसमर्पण किया। पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी और पूर्व उपमुख्यमंत्री प्रो.स्टीफन मरांडी की ओर से अधिवक्ता संजीव कुमार गोरांई ने न्यायालय में जमानत की अर्जी दाखिल की। न्यायालय ने सरकार और बचाव पक्ष की ओर से बहस सुनने के बाद जमानत की अर्जी को मंजूरी दे दी। न्यायालय द्वारा 10-10 हजार के दो-दो जमानतदार की ओर से बेल बांड दाखिल करने पर रिहा करने का आदेश दिये गये। जानकारी के अनुसार बीते 2014 के अप्रैल महीने में सम्पन्न लोकसभा चुनाव के दौरान शिकारीपाड़ा विधानसभा क्षेत्र के असना गांव स्थित मतदान केन्द्र संख्या 100 और 101 चुनाव के दौरान आर्द ा अचार संहिता उल्लंधन को लेकर शिकारीपाड़ा थाना में भादवि की धारा 188,145 और आपीएक्ट 1951 की धारा 126 के तहत कांड संख्या 41/2014 दर्ज कराया गया था। इस मामले में पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी,पूर्व उपमुख्यमंत्री प्रो.स्टीफन मरांडी को आरोपी बनाया गया है। इसी मामले में झाविमो के दोनों नेताओं ने गुरुवार को न्यायालय में आत्मसमर्पण किया और जमानत की अर्जी दाखिल की। इस मामले के न्यायालय से अन्य आरोपी भाजपा के प्रत्याशी सुनील सोरेन,अमरेन्द्र कुमार सिंह मुन्ना,झाविमो नेता परितोश सोरेन और राजेश कुमार मुर्मू पूर्व से जमानत पर हैं।

डॉ.अजय कुमार कल कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण करेंगे

3
रांची,21अगस्त।पूर्व सांसद सह झाविमो के नेता डा. अजय कुमार कोल्हान क्षेत्र्ा के अपने हजारों समर्थकों के साथ 22 अगस्त को कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण करेंगे। उक्त जानकारी देते हुए झारखण्ड प्रदेश कांग्रेस कमिटी के सचिव मीडिया सदस्य संजय पाण्डें ने बताया कि कांग्रेस की नीतियों एवं विचारों से प्रभावित होकर तथा धर्मनिरपेक्ष शक्तियों को मजबूती प्रदान करने हेतु डा. अजय कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण कर रहे हैं।
संजय पांडेय ने कहा कि आने वाले समय में प्रदेश के अनेक नेतागण कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण करेंगे परन्तु कांग्रेस में ऐसे नेताओं को सदस्यता प्रदान की जायेगी जो कांग्रेस की मजबूती हेतु कांग्रेस की नीति एवं सिद्धान्तों के अनुरुप कार्य करेंगे। कांग्रेस में पद की लालसा अथवा चुनाव लड़ने की अकांक्षा पाले हुए नेताओं को सदस्यता ग्रहण कराने में पार्टी पूरी तरह संयम बरतेगी। श्री पाण्डें ने कहा कि वर्तमान समय में मोल-भाव करके विभिन्न दलों में सदस्यता ग्रहण करने-कराने की होड़ मची हुई है जिससे स्प ट है कि चुनावी मौसम में अपनी दुकानदारी चलाने हेतु विभिन्न दलों की सदस्यता ग्रहण की जा रही है।
उन्होंने कहा कि डा. अजय का कांग्रेस में शामिल होने से न सिर्फ कोल्हान क्षेत्र्ा में बल्कि पूरे राज्य स्तर पर कांग्रेस को लाभ मिलेगा एवं संगठन में मजबूती आयेगी और इसका आगामी विधानसभा चुनावों में असर देखने को मिलेगा।

Powered by Horizon Softech